मै क्या सोचता हुँ…

Posted on Categories Poems

जो देखा होता मेरी आँखों में अगर तुमने कभी
तो तुम जान जाते
मैं क्या सोचता हूँ

अपनी बातों को छोड़ कभी सुनी होती मेरी कहानी
तो तुम जान जाते
मैं क्या सोचता हूँ

जो दुनिया को मेरी अगर देख लेते
तो तुम जान जाते
मैं क्या सोचता हूँ

अपने यारों से जो तुम कभी फुर्सत पाते
तो तुम जान जाते
मैं क्या सोचता हूँ

जो साथ रह कर भी सच्चाई मे साथ होते
तो तुम जान लेते
मैं क्या सोचता हूँ

अपने दिल में जो सच में मुझे रहने देते
तो तुम जान लेते
मैं क्या सोचता हूँ

जो सहारा उन झूठी बातों का ना लेते
तो तुम जान जाते
मैं क्या सोचता हूँ

अपने दिल में जो देखा कभी होता तुमने
तो तुम जान लेते
मैं क्या सोचता हूँ

जो करते तुम मुझपर सच्चा भरोसा
तो तुम जान लेते
मैं क्या सोचता हूँ

अपने अपने ही रास्तो पे चल पड़े हैं दोनों
शायद किसी दिन
तुम जान लोगे
मैं क्या सोचता हूँ

Copyright in the name of Ujjwal Kumar 🙂 Contact me before using it anywhere 🙂

1 thought on “मै क्या सोचता हुँ…”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *